viral fever cause symptoms and treatment in hindi

viral fever cause symptoms and treatment in hindi 

वायरल का फीवर हमारे इम्यून सिस्टम को कमजोर कर देता है, जिसकी वजह से शरीर में इंफेक्शन बहुत तेजी से बढ़ता है, वायरल के संक्रमण बहुत तेजी से एक इंसान से दूसरे इंसान तक पहुंच जाता है|

आंखों का लाल होना और माथे का बहुत तेज गर्म होना आदि, बुजुर्गों के अलावा यह  Viral Fever बच्चों में भी तेजी से फैलता है|

घरेलू उपचार – viral fever cause symptoms and treatment in hindi

1. हल्दी और सौंठ का पाउडर

अदरक में एंटी आक्सिडेंट गुण बुखार को ठीक करते हैं, एक चम्मच काली मिर्च का चूर्ण, एक छोटी चम्मच हल्दी का चूर्ण और एक चम्मच सौंठ यानी अदरक के पाउडर को एक कप पानी और हल्की सी चीनी डालकर गर्म कर लें, जब यह पानी उबलने के बाद आधा रह जाए तो इसे ठंडा करके पिएं, इससे वायरल बुखार में आराम मिलता है|

2. तुलसी का इस्तेमाल

तुलसी में एंटीबायोटिक गुण होते हैं जिससे शरीर के अंदर के वायरस खत्म होते हैं|

एक चम्मच लौंग का चूर्ण और दस से पंद्रह तुलसी के ताजे पत्तों को एक लीटर पानी में डालकर इतना उबालें कि यह सूखकर आधा न रह जाए, इसके बाद इसे छानें और ठंडा करके हर एक घंटे बाद पिएं. आपको वायरल से जल्द आराम मिलेगा|

3. धनिया की चाय

धनिया सेहत के मामले में धनी होता है इसलिए यह वायरल बुखार जैसे ही बहुत सारी बिमारियों को खत्म कर देता है, Viral Fever को ठीक करने के लिए धनिया की चाय बहुत ही राम बाण औषधि का काम करती है|

4. मेथी का पानी

आपके किचन में मेथी तो होती ही है, मेथी के दानों को एक कप में भरकर इसे रात भर के लिए पानी में भिगों लें और सुबह इसे छानकर हर एक घंटे बाद पिएं, जल्द  आराम मिलेगा|

5. नींबू और शहद

नींबू का रस और शहद भी वायरल बुखार के असर को कम करते हैं, आप शहद और नींबू के रस का सेवन भी कर सकते हैं|

वायरल बुखार के कारण – viral fever cause symptoms and treatment in hindi

1. यह एक व्यक्ति से दूसरे में फैलता है| जब संक्रमित व्यक्ति छींकता है, खांसी करता है या बात करता है तो तरल पदार्थ के छोटे फुहार निकलते है|

जो सांस द्वारा आप के शरीर में प्रवेश कर सकते है| यदि एक वायरस भी शरीर में प्रवेश कर लेता है तो वह 16 से 48 घंटे में पुरे शरीर को संक्रमित कर देगा|

2. वायरस द्वारा दूषित किसी भी पदार्थ या पैय का प्रयोग करना|

3. संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क मे आने से या तो रक्त द्वारा या यौन सम्बन्ध के रूप से|

4. वायरल बुखार का एक कारण मौसम परिवर्तन यानि सर्दी भी है|

Viral Fever के कुछ महत्वपूर्ण लक्षण

1. बुखार का बहुत तेज और फिर कुछ देर के लिए कम होना|

2. शरीर में जरूरत से ज्यादा थकान का महसूस होना|

3. मांसपेशियों और जोड़ो में दर्द का होना|

4. जरूरत से ज्यादा ठंड का लगना|

5. उलटी होना, नाक बंद होना, खांसी, सिर का दर्द, दस्त और शरीर पर लाल चितके होना|

यदि आप को इन में से 3 या 4 कारण भी अपने शरीर में नजर आते है, तो हो सकता है कि आपको वायरल बुखार हो|

Viral fever

viral fever

वायरल बुखार के कुछ जरूरी उपचार – viral fever cause symptoms and treatment in hindi

1. वायरल बुखार के लिए उपचार केवल संक्रमण के लक्षणों को कम करने पर आधारित है|

2. यदि रोगी को तेज बुखार है तो उसके लिए सबसे अच्छा है कि उसको ज्यादा से ज्यादा आराम करना चाहिए|

3. यदि रोगी को अत्यधिक बुखार,सिरदर्द, शरीर में दर्द हो तो चिकित्सक की सलाह लेने में संकोच न करे|

4. खाने में दाल की खिचड़ी, सूप और जौ रोटी का प्रयोग करे क्योंकि ये हल्का भोजन है जो कि बहुत जल्दी पचता है और वायरल रोग प्रतिरोधी भी है तथा साथ में रोगी को उर्जा देता है|

5. कुछ लोग स्वयं चिकित्सक बनते है और एंटीपैरेरिकिक्स, एनाल्जेसिक्स, एंटीबायोटिक दवा का प्रयोग करते है| बिना चिकित्सक की सलाह के ये शरीर के लिए हानिकारक है|

6. Viral fever एंटीबायोटिक ठीक नही होगा क्योंकी ये दवा हानिकारक जीवाणुओं के लिए बनी है वायरस के लिए नही|

7. यदि चिकित्सक ने रोगी को एंटीबायोटिक दवा दी है तो उस कोर्स को पूरा करे क्योंकि हो सकता है वो किसी अन्य कारण या रोग के लिए दी गयी हो|

8. यदि बुखार 102F से नीचे है तो घर पर ही देखभाल कर सकते है, यदि बुखार उससे भी अधिक है तो तुरंत चिकित्सक की सहायता ले|

9. मरीज को स्वच्छ जगह रखे और उससे दूरी बनाकर रहें उसके द्वारा इस्तेमाल की हुए चीजों का इस्तेमाल ना करे|

10. मरीज को अगर तेज बुखार है तो उसके सिर पर सामान्य पानी में साफ कपड़ा भिगोकर उसके माथे पर रखें और शरीर को कपड़े से पोछ भी सकते है, जब तक तापमान सामान्य न हो जाए ऐसा ही दोहराते रहें|

viral fever cause symptoms and treatment in hindi

Ear Pain

Upper Back Pain

Am I Depressed

Fever Blister

Dengue Fever

VIral Fever

You may also like...