बुखार छाला – fever blister meaning in hindi

fever blister meaning in hindi – बुखार के फफोले

बुखार के फफोले मुंह में या उसके आस-पास दिखाई देते हैं। वायरस, हरपिस (दाद) सिंप्लेक्स के कारण बुखार के फफोले होते हैं।

आमतौर पर टाइप -1 हरपिस वायरस से बुखार के फफोले होते हैं।

ये फफोले संक्रामक होते हैं, इनकी पुनरावृत्ति तनाव, बीमारी, चोट, सूर्य के प्रकाश के कारण होते हैं।

fever blister meaning in hindi

 

fever blister meaning in hindi

लक्षण

त्वचा पर बुलबुले जैसी संरचनाएं
जगह पर ललाई
खुजली
दर्द

बेलपत्र के उपाय : बेल पत्र सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होते हैं। इससे शरीर की कई छोटी मोटी परेशानियां दूर होती हैं। आइए जानिए इससे मिलने वाले फायदों के बारे में

1. आंखों में इंफैक्शन

मानसून के मौसम में अक्सर आंखों में इंफैक्शन हो जाती है और उनमें सूजन, खुजली और लालिमा आ जाती है। ऐसे में बेल के पत्तों का रस निकाल कर आंखों में डालने से फायदा होता है।

2. एसिडिटी

गलत खान पान की वजह से पेट में गैस की समस्या हो जाती है। ऐसे में बेल पत्र के रस में चुटकी भर काली मिर्च और थोड़ा सा काला नमक मिलाकर लेने से पेट की गैस से राहत मिलती है।

3. मुंह के छाले – fever blister meaning in hindi

अधिक मसालेदार खाने या शरीर में गर्मी पड़ने पर मुंह में छाले हो जाते हैं। इसके लिए बेल पत्र, हरा धनिया और सौंफ को पीस कर उसकी चटनी बना लें। इस चटनी का सेवन करने से मुंह के छालों से आराम मिलता है।

4. खांसी जुकाम

इसके लिए 1 चम्मच बेल के रस में 1 चम्मच शहद दिन में 2 3 बार लेने से खांसी जुकाम और बलगम से राहत मिलती है।

5. वायरल बुखार

मौसम बदलने के साथ ही वायरल बुखार हो जाता है। ऐसे में बेल के पत्तों को पीसकर उसमें गुड़ मिलाकर छोटी छोटी गोलियां बना लें और सुबह शाम खाने से बुखार से छुटकारा मिलता है।

6. अस्थमा

अस्थमा के रोगियों को सांस लेने में काफी तकलीफ होती है। इसके लिए बेल के पत्तों और सौंफ को पानी में उबाल कर पीएं।

7. कीड़े या मधुमक्खी काटने पर

किसी भी जहरीले कीड़े या मधुमक्खी के काटने पर स्किन पर जलन, सूजन और लालिमा हो जाती है। ऐसे में उस जगह पर बेल पत्र का रस निकाल कर रगड़ें।

fever blister meaning in hindi

fever blister meaning in hindi

fever blister meaning in hindi

8. पेट के कीड़े

इसके लिए 1 चम्मच बेल पत्र के रस में अजवाइन मिलाकर सेवन करने से पेट के कीड़े मर जाते हैं।

फफोले क्या हैं ?

घर्षण के कारण होता है; जूते या कपड़े के लगातार रगड़ के कारण

छाले की बाहरी त्वचा की परत अंदर की परत से अलग होती हैं| दोनो परतों के बीच में तरल पदार्थ भर जाता है|

एथलीट(खिलाड़ी), ट्रेकर्स(पैदल चलने वाले), रोवर्स(खिवैया) में सामान्य बात हैं|

नए जूते का उपयोग करने वाले लोगों में भी देखा गया हैं| इसकी रोकथाम की जा सकती हैं |

 

इलाज – fever blister meaning in hindi

छाले के किनारे पर एक छेद बनाय़ें

निष्कीटित (स्टरलॉईज) सुई या पिन का उपयोग करें

पिन या सुई को आग से तपा कर निष्कीटित करें

संचित तरल पदार्थ को निकाले

संक्रमण से बचने के लिये त्वचा को हटाये नहीं

छाले को आयोडीन या अल्कोहल वाली पट्टी से साफ करें

एंटीबॉयोटिक मरहम लगायें

छोटे छालों को चिपकने वाली पट्टी से ढ़ंक देवें

बड़े छालों के लिए छिद्रपूर्ण, पट्टी का इस्तेमाल करें

यदि छाले दर्द रहित हो तो छिद्र न करें

रक्त भरे छाले में छिद्र न करें

फफोले कुछ दिनों में गायब हो जायेगें

मधुमेह रोगियों को डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए ।

  • बुखार के छाले (मौखिक) लिए प्रबंधन
  • हरपीस संक्रमण के लिए कोई स्थायी इलाज या टीकाकरण नहीं
  • फफोले को सूखा और संक्रमण से मुक्त रखें
  • कम मसाले वाला आहार खाएं ।

फफोले की रोकथाम

सही आकार के जूते पहनें

टेपिंग या पट्टी के साथ संभावित क्षेत्र को ढंक कर रखे

पैरों को हमेशा सूखा रखें ।

  • बुखार के छाले
  • छाले को छूने से बचें
  • संक्रमित व्यक्ति के संपर्क से बचें
  • तनावपूर्ण स्थितियों से बचें ।

 

What is a blister? (फफोला क्या होता है?)

फफोला, त्वचा पर जबरदस्त रगङ, जलन, शीतलन, रसायनिक जोखिम, या कुछ संक्रमण से उत्पन्न मवाद, रक्त, या साफ द्रव पदार्थ (सीरम या प्लाज्मा) से भरी हुई गाँठ जैसा छोटा सा बुलबुला होता है।

कुछ सामान्य कारण जैसे नये जूते पहनना या हाथ से कुछ शारीरिक मेहनत का काम करना जैसे अपने बगीचे में मदद करने से भी आपकी त्वचा पर फफोला हो सकता है।

fever blister meaning in hindi

fever blister meaning in hindi

fever blister meaning in hindi

तीन प्रकार के फफोले होते हैं:

पानी के फफोलेः त्वचा पर एक ही स्थान पर अत्यधिक घर्षण से पानी का फफोले उत्पन्न होता है, उदाहरण के लिए जब आप नये जूते पहनते हैं, तो पैर पर फफोला हो सकता है।

यह छोटे आकार का होता है और इसमें सीरम या प्लाज्मा नामक साफ तरल पदार्थ भर जाता है।

पानी से भरा हुआ फफोला बहुत दर्दनाक, छूने के लिए नाजुक और जलन संवेदनशील होता है।

रक्त के फफोले-

गहरे लाल रंग के फफोले आमतौर पर रक्त के फफोले होते हैं। त्वचा के अंदर ऊतक और रक्तवाहनियां नष्ट होने पर फफोला बन जाता है और रक्त से बुलबुला उत्पन्न होता है।

रक्तयुक्त फफोला यद्यपि दर्दनाक और छूने में नाजुक होता है लेकिन यदि इसे छेङा न जायें तो सूख जाता है।

जलने के फफोले- fever blister meaning in hindi

सेकण्ड-डिग्री जलन के कारण त्वचा की प्रथम दो परतें नष्ट होने पर फफोले हो जाते हैं।

पानी के फफोलों की तरह ही, इन जलन के फफोलों में भी साफ द्रव पदार्थ-सीरम या प्लाज्मा भर जाता है।

अंतर्निहित कारणों से, जलन के फफोले बहुत दर्दनाक होते हैं और ठीक होने में बहुत समय लग सकता है।

fever blister meaning in hindi

How to remove weakness

Sar Dard Ka Ilaj

Best moisturizer for face

fever blister meaning

You may also like...