ear pain in hindi – kan dard ka desi ilaj – कान दर्द का इलाज

ear pain in hindi 

कान दर्द का इलाज :  कान में कई बार पानी या धूल मिट्टी चले जाने से फंगस जमनी शुरू हो जाती है। जो धीरे-धीरे इंफैक्शन का कारण बनती है।

इससे सिर दर्द,बेचैनी,और कान में असहनीय दर्द होने लगता है। जिन लोगों का ज्यादा जुखाम रहता हैं उनके कान में भी अक्सर दर्द रहने लगता है।

कई बार तो रात के समय यह दर्द अचानक उठ जाता है, जिससे सहन करना मुश्किल हो जाता है।

ऐसे में कुछ घरेलू उपायों की मदद से राहत पा सकते हैं। आइए जाने कौन से हैं ये उपाय।

ear pain in hindi – kan dard ka desi ilaj

 

1. प्याज का रस

कान में अचानक दर्द उठने पर प्याज का रस निकाल कर इसकी 1-2 बूंद कान में डाल लें। इससे दर्द से आराम मिलेगा।

2. सरसों का तेल

सरसों का तेल किसी भी तरह के इंफैक्शन में रामबाण है। कान दर्द होने पर तेल को हल्का सा गर्म कर लें। इसकी 1 बूंद कान में डाल लें। इससे दर्द कम हो जाएगा।

3. लहसून

लहसून के एंटी बैक्टिरियल गुण संक्रमण से बचाव करने में मददगार है। सरसों के तेल में लहसून की 1-2 कली डाल कर इसे भूरा होने तक गर्म करें। इसके बाद जब तेल हल्का गुनगुना हो जाए तो इसकी 1 बूंद कान में डाल लें।

4. पानी से सिकाई

कई बार कान में कफ जमा होने के कारण भी दर्द होना शुरू हो जाता है। इसके लिए सबसे बेहतरीन उपाय है गुनगुने पानी की सिकाई। गुनगुने पानी में तौलिया निचोड़ कर इससे कान की सिकाई करें। जब तौलिया ठंड़ा हो जाए तो दोबारा फिर इसी प्रक्रिया को दोहराएं। लगातार 15 मिनट तक ऐसा करें। इससे बहुत फायदा मिलेगा।

5. विटामिन सी युक्त आहार

अपने खाने में विटामिन बी से भरपूर आहार को सेवन करें। यह फल इंफैक्शन दूर करने में मददगार है।

ध्यान में रखें ये बात – ear pain in hindi – kan dard ka desi ilaj

ear-pain-in-hindi

ear pain in hindi – kan dard ka desi ilaj

1. यह उपाय कुछ देर राहत पाने के लिए हैं। कान का सही तरीके से इलाज करवाना बहुत जरूरी है।
2. कान को कभी भी नुकीली चीज से साफ न करें।
3. दर्द होने पर इसे जोर-जोर से न हिवाएं। इससे परेशानी और भी बढ़ सकती है।
4. कान में फंगल जम जाने पर डॉक्टर से ही सफाई करवाएं।

कान दर्द का इलाज : कान में हो रहे दर्द के कई कारण हो सकते है जैसे कान में मैल का इकट्ठा होना, कान के भीतर पानी जाना, कान की सफाई गलत ढ़ग से करना, कान के पर्दे खराब हो जाना आदि ।

ear pain in hindi – kan dard ka desi ilaj

कान को साफ करने के लिए कॉटन स्कैब का प्रयोग गलत ढ़ग से करना भी कान में दर्द पैदा कर सकता है ।

आप कान को साफ करते समय कभी भी कोई नुकीली चीज का इस्तेमाल न करें । कान के दर्द को अनदेखा नहीं करना चाहिए ।

किसी अच्छे डाक्टर की मदद लेनी चाहिए । कान के दर्द के लिए आप कुछ घरेलु उपायों की मदद भी ले सकते है ।  कान के इंफैक्शन को न करे इग्नोर, हो सकता है कैंसर

प्याज का रस निकालकर रूई की मदद से कान में कुछ बूंदे डालने से कान दर्द से राहत पाई जा सकती है ।

जैतून का तेल कान दर्द से राहत दिलवाने में मददगार साबित हुआ है ।

तुलसी की ताजा पत्तियों का रस निकालकर कान में कुछ बूंदे डालने से कान दर्द से राहत पाई जा सकती है ।

कान में दर्द होने पर अदरक का रस निकालकर कान में डालने से कान के दर्द से राहत पाई जा सकती हैं ।

नमक को अच्छी तरह गर्म करके उसे किसी कपड़े में बांध कर कान के जिस जगह पर दर्द हो रही हो उस जगह पर रखने से कान दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है ।

अगर कान में मैल इक्ट्ठी हो जाएं तो कॉटन बुड्स का इस्तेमाल ज्यादा न करें इससे कान में इन्फेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता हैं और कान में मैल इक्ट्ठा होने पर किसी डॉक्टर से ही कान की सफाई करवाएं ।

ear pain in hindi – kan dard ka desi ilaj

दर्द का घरेलू उपचार : कान हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है, जिसे नियमित अंतराल के दौरान साफ करना बहुत जरूरी हैं।

दरअसल, कान के पास अलग से सुरक्षा परत नहीं होती जिससे धूल-मिट्टी के रूप में छोटे-छोटे कण और वेक्स हमारे कान के अंदर जमा हो जाती है।

जो कान में बैक्टीरियल इंफैक्शन का कारण बन सकते हैं। इसके अतिरिक्त सर्दी और बरसात के दिनों में कान संबंधी रोग आम सुनने को मिलते हैं।

सर्दी, कर्कश ध्वनि,चोट, कान में कीट के घुसने या संक्रमण, अधिक मैल जम जाने या नहाते समय कान में पानी आदि चला जाने से भी कान में इंफैक्शन हो जाती है।

यह पीड़ा असहनीय होती हैं की बर्दाश्त से बाहर हो जाती हैं। कई बार तो कान की वजह से चक्कर, भारी सिरदर्द और बुखार की परेशानी भी हो जाती है।

ear pain in hindi – kan dard ka desi ilaj

कान के दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप कुछ घरेलू टिप्स भी फॉलो कर सकते हैं। इसमें आपके दवाइयों पर ज्यादा पैसे भी नहीं खर्च होंगे और आराम भी तुरंत मिलेगा।

आहार में विटामिन-सी युक्त पदार्थों जैसे-अमरुद ,नींबू ,संतरे ,पपीते अदि फलों का प्रयोग करें ये कान के दर्द को कम करने में लाभ देते हैं।

तिल के तेल में 3 लहसुन की कली पीसकर अच्छे से गरम कर लें। फिर छानकर शीशी में भर लें। इसकी 4-5 बूंदें कान में डालें। दर्द से तुरंत राहत मिलेगी।

अदरक के रस की दो बूंदें टपका लेने से भी कान के दर्द और सूजन से छुटकारा मिलता है

प्याज के रस से भी कान का दर्द गायब हो जाता है। इससे भी कान की सूजन, दर्द, एवं संक्रमण को कम करने में मदद मिलती है।

जैतून का तेल हल्का गरम करके कान में डालने से भी कान के दर्द में राहत मिलती है।

तुलसी की ताजी पतियों का रस की दो बूंदें निचोड़कर कान में डालने से भी राहत मिलती है।

ear-pain-in-hindi

ear pain in hindi – kan dard ka desi ilaj

मुलहठी कान दर्द में उपयोगी है। इसे घी में भूनकर बारीक पीसकर पेस्ट बनाएं। फिर इसे कान में लगाएं। कुछ ही मिनटों में दर्द बिलकुल समाप्त होगा।

दर्द का घरेलू उपचार : प्याज खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ सेहत का भी ख्याल रखता है।

लोग प्याज का इस्तेमाल कई ब्यूटी और स्वास्थ्य संबंधी प्रॉबल्म को दूर करने के लिए अलग-अलग तरीके से इस्तेमाल करते हैं क्योंकि प्याज में केलिसिन और रायबोफ्लेविन पर्याप्त मात्रा में होता है।

इसके अलावा इसमें जीवाणुरोधी, तनावरोधी, दर्द निवारक, पथरी, गठिया, लू, मधुमेह और कई अन्य बीमारियों से बचाए रखने वाले गुण होते हैं।

वहीं अगर प्याज का टुकड़ा रात को जुराब और कान में रखकर सोया जाए तो कई तरह की बीमारियां दूर की जा सकती है।

खाने के अलावा प्याज को एक औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। आइए जानते है प्याज को कान में रखने से क्या होता है?

1. खून शुद्ध

दरअसल प्याजा में मौजूद फॉस्फोरिक एसिड खून की धमनियों में घूसकर खून को शुद्ध करता है। इसलिए रात को सोने से पहले काट में प्याज का टुकड़ा रख लें।

2. पैरों की बदबू

जिन लोगों को जूते-चप्पल पहनने के बाद पैरों की बदबू की शिकायत रहती है उनके लिए यह नुस्खा काफी कारगर साबित होता है।

3. कान दर्द या जलन

रात को सोने से पहले प्याज के टुकड़े का कान के बाहरी हिस्से पर इस तरह रखे कि प्याज कान के अंदर न जाएं। इस उपाय से कान दर्द और उसमें होने वाली जलन आसानी से दूर हो जाएगी।

अन्य कई समस्याएं

इन सब समस्याओं के अलावा कान से जुड़ी बहुत से प्रॉबल्म से छुटकारा मिलेगा। इसलिए यह उपाय आपके लिए किसी रामबाण इलाज से कम नहीं होगा।

ear pain in hindi – kan dard ka desi ilaj

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *